Exam में बच्चों ने लिखी मोहब्बत की दास्तान, कहा-“सर की मर्जी फेल करें या पास”

परीक्षा कॉपी में लिखी मोहब्बत की दास्तान: जैसा कि हम सभी जानते हैं कि इन दिनों उत्तर प्रदेश में माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन का कार्य जोरों पर है. इसी बीच विद्यार्थियों द्वारा की गई विभिन्न प्रकार की करतूतें सामने आई है. उत्तर पुस्तिकाओं को देखकर शिक्षक भी हैरान रह गए हैं. इन उत्तर पुस्तिकाओं को देखकर यह बात साफ जाहिर हो  रही है कि बच्चों ने पढ़ाई के इलावा बाकी सब कुछ किया है. दरअसल, उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में परीक्षार्थियों ने उत्तर लिखने की बजाए मूल्यांकन करने वाले शिक्षकों से पास करने की विनती की है. कहीं कोई विद्यार्थी अपनी दुखभरी कहानी सुनाकर पास होने की मिन्नतें कर रहा है तो कोई अपनी लव स्टोरी की दास्तान बता कर पढ़ाई से ध्यान हटाने का कारण बता रहा है.

इतना ही नहीं बल्कि कुछ बच्चों ने तो उत्तर शीट पर 10 और 100 के नोट चिपका दिए हैं ताकि मूल्यांकन करने वाले शिक्षक उन्हें पैसे लेकर पास कर दे. हाल ही में मूल्यांकन में हुई यह सारी करतूतें मीडिया के सामने आई हैं जिनकी तस्वीरें इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है.

चिट्ठी चिट्ठी जा सर के पास

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में इन दिनों माध्यमिक परीक्षा के लिए चार सेंटर बनाए गए थे. इन सेंटर में से पहला सेंटर राजकीय इंटर कॉलेज, दूसरा डीएवी इंटर कॉलेज, तीसरा इस्लामिया इंटर कॉलेज और चौथा ग्रेन चेंबर इंटर कॉलेज को  बनाया गया था. इसी बीच परीक्षार्थियों की कुछ ऐसे उत्तरपुस्तिका निकल रही है जो उनके गैरजिम्मेदाराना होने का सबूत दे रही हैं. नीचे दी गई तस्वीर में आप देख सकते हैं कि किस प्रकार बच्चे ने साइंस के पेपर में अपने मूल्यांकन करने वाले गुरु से पास होने की विनती की है. परीक्षार्थी ने लिखा कि, ” चिट्ठी चिट्ठी जा सर के पास सर की मर्जी फेल करें या पास”.

भाई साहब मोहब्बत नहीं परीक्षा है ये

इतना ही नहीं बल्कि कुछ बच्चों ने उत्तर पुस्तिका में 100 और दस के नोट रखकर टीचरों को रिश्वत देकर नंबर लेने की अपील की है. बच्चों ने शिक्षकों को इमोशनल ब्लैकमेल करने में किसी प्रकार की कोई कसर नहीं छोड़ी है. किसी बच्चे ने तबीयत खराब होने के बारे में लिखा है तो किसी ने अपने मां-बाप ना होने की बात लिखी है. हद तो तब हो गई जब एक छात्र ने अपनी उत्तर पुस्तिका में अपनी मोहब्बत की दास्तान लिख दी और बताया कि उसकी प्रेमिका ने उसका पढ़ने से ध्यान हटा दिया था इसलिए अब उसे पास कर दिया जाए.

मैं बहुत गरीब हूँ सर

इन दिनों मुजफ्फरनगर की मध्यम उत्तर पुस्तिकाओं की तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से फैल रही हैं. इसी बीच एक बच्चे ने लिखा कि “सर मुझे पास कर देना, मेरी मां नहीं है मेरे पापा मुझे मार डालेंगे” , वहीं एक और अन्य विद्यार्थी ने लिखा कि “सर मैं बहुत गरीब हूँ इसलिए दया करके मुझे पास कर दीजिए”. सीसीटीवी फुटेज आने के बावजूद भी चारों सेंटर इन उत्तर पुस्तिकाओं में लिखी बातों को नकार रहे हैं. राजकीय इंटर कॉलेज के प्राचार्य रमेश चंद्र शर्मा ने बताया कि मूल्यांकन सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में चल रहा है और इस प्रकार का कोई भी मामला सामने नहीं आया है.

रमेश चंद्र शर्मा ने बताया कि अगर इस प्रकार की कोई उत्तर पुस्तिका सामने आती है तो सबसे पहले उन्हें सूचित किया जाए. बच्चों की करतूतों की कॉपी सामने आने के बावजूद भी कोई भी अध्यापक इस तरह की लिखी हुई बातों पर ध्यान नहीं देना चाहता.

Leave a Reply

Your email address will not be published.