मुख्य समाचार

दसवीं पास लड़के ने ग्रैजुएट लड़की से की शादी, फिर इस हाल में मिले की जो भी देखा यकीन न कर पाया

झाँसी: इन दिनों भारत में क्राइम केस लगातार बढ़ते नज़र आ रहे हैं. हाल ही में झांसी के मसीहागंज इलाके में रहने वाले शादीशुदा जोड़े की लाशें उनके अपने घर  से बरामद की गई. जानकारी के अनुसार दोनों शव निर्माणाधीन मकान की तीसरी मंजिल पर मिले थे. वहीँ पुलिस ने बताया कि दोनों पति पत्नी की लाशें 24 घंटे से ही मकान में मौजूद थी. गौरतलब है कि इस पति पत्नी की लाशें भी बिलकुल आस पास  ही पड़ी हुई थी और लड़के का एक हाथ लड़की के पर्स में था. सूत्रों के अनुसार लड़की की मौत का कारण सिर के बीचों बीच गोली लगना था.

10वीं पास लड़के पर ग्रेजुएट लड़की का आया था दिल 

पुलिस द्वारा की पूछताछ के दौरान पड़ोसियों ने मृतक का नाम जय सिंह अहिरवार (30 वर्षीय) बताया. जय एक केटरिंग शॉप का मालिक था. परिवार की आर्थिक तंगी के कारण जय ने  दसवीं पास करने के बाद ही पढ़ाई छोड़ दी थी. जिसके बाद उसने घर खर्च चलाने. के लिए खुद का टेंट हाउस का बिजनेस स्टार्ट किया. जय के भाई ने बताया कि किसी परिजन की शादी के फंक्शन में जय की मुलाकात ललितपुर की रहने वाली मोनिका कुशवाहा से हुई थी. इसी बीच दोनों की अच्छी खासी दोस्ती हो गई थी और 4 सालों के अफेयर के बाद दोनों ने 4 अप्रैल 2016 में घर से भाग कर कोर्ट मैरिज कर ली. दोनों की जाति अलग अलग थी इसलिए दोनों के घर वाले इस शादी के सख्त खिलाफ थे. हालांकि विरोध के बावजूद जय की शादी में उसकी फैमिली शामिल हुई परंतु लड़की के परिवार वाले आज भी उससे नराज़ थे.

खुद का बना रहे थे आशियाना

मां-बाप का साथ ना मिलने के कारण जय अपनी पत्नी के साथ एक अलग जगह और एक अलग घर में रहना चाहता था. इसी के चलते हाल ही में झांसी से 10 किलोमीटर दूर ग्वालियर रोड पर 3 मंजिला मकान बनवाना शुरू किया था. इसी बीच ग्रेजुएट मोनिका बतौर सरकारी टीचर नौकरी पक्की हो गई. दोनों पति-पत्नी खुशी से जीवन व्यतीत कर रहे थे. अपनी खुशी को साझा करने के लिए 1 सितंबर 2016 को मोनिका ने Facebook अकाउंट पर ” फीलिंग हैप्पी” का स्टेटस डाला था. परंतु बाद में जय को मोनिका का नौकरी करना पसंद नहीं आया. जय को मोनिका के कैरेक्टर पर अक्सर शक रहता था जिसके कारण वह उसको जॉब से हटवाना चाहता था. अपने शक के चलते कुछ दिन पहले ही जय ने Facebook पर मोनिका के साथ तलाक का स्टेटस पोस्ट करते हुए लिखा था कि, “लड़कियां धोखेबाज होती हैं और धोखे के इलावा ये कुछ नहीं कर सकती”.

ऐसे हुआ  कहानी का अंत

नौकरी के एक हफ्ते बाद ही दोनों पति-पत्नी की लाश में ग्वालियर रोड पर बन रहे उनकी अपने आशियाने पर मिली. वहीं दूसरी और SSP अब्दुल हमीद के अनुसार यह मामला सुसाइड का है. अब्दुल हमीद के अनुसार जय बुधवार को अपनी कार से तीन मंजिला मकान पर पहुंचा. उसके साथ उस समय पत्नी मोनिका भी मौजूद थी. इसी बीच दोनों का झगड़ा हुआ और उसने पहले अपनी वाइफ को गोली मारी और फिर खुद को गोली मारकर कहानी को खत्म कर दिया.

फिलहाल पुलिस को दोनों की मौत के बारे में कोई सबूत या कोई सुसाइड लेटर नहीं मिल पा रहा है जिसके कारण यह मौतें अभी तक एक मर्डर मिस्ट्री बनी हुई है. पुलिस के अनुसार इस मौत के पीछे दो ही तथ्य हो सकते कि, जय ने मोनिका को मारकर अपनी भी जान दे दी और या लड़की के घरवालों ने मौका मिलते ही दोनों को ख़तम करवा दिया. फिलहाल पुलिस इस मिस्ट्री को सुलझाने के लिए मृतकों के परिजनों एवं पड़ोसियों से पूछताछ कर रही है.

Related Articles

Close