ब्रेकिंग न्यूज़

ममता बनर्जी का बड़ा ऐलान ‘रामनवमी जूलूस में न लाएं हथियार,’ बीजेपी का दो टूक जवाब

बंगाल की सीएम ममता बनर्जी पहली बार सुर्खियों में नहीं आ रही है। जी हां, वो नवरात्रि को लेकर पहले भी सुर्खियोंं में आ चुकी हैं। बता दें कि बंगाल में नवरात्रि बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है, ऐसे में एक बार फिर से नवरात्रि को लेकर सीएम ममता ने बड़ी पाबंधी लगाई है। हालांकि, इसके पीछे ममता का कहना है कि उन्होंने ये सुरक्षा की दृष्टि और सूबे में शांति का माहौल बना रहे, इसलिए किया है। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

बता दें कि 25 तारीख को रामनवमी है, ऐसे में सीएम ममता ने कहा कि जो लोग जूलूस निकालना चाहते हैं, वो जरूर निकाले लेकिन पहले परमिशन जरूर लें। इसके साथ ही ममता ने ये भी कहा कि जूलूस करने वाले हथियार न लेकर आएं,  इससे शांति भंग होती है। जी हां, ममता के इस ऐलान से सूबे की सियासत शुरू हो चुकी है। बीजेपी नेता ने ममता बनर्जी को बड़ी चुनौती देते हुए दो टूक में जवाब दिया है।

याद दिला दें कि पिछले साल की नवरात्रि को लेकर भी ममता ने बड़ा बयान दिया था, जिसको लेकर ममता और उनके विरोधी कोर्ट तक भी जा पहुंचे थे, लेकिन ममता ने झुकने का नाम नहीं लिया, हालांकि कोर्ट का फैसला ममता के खिलाफ आया तो ममता ने कोर्ट के फैसले का सम्मान किया। दरअसल, उस समय मोहर्रम और दशहरा आस पास पड़ रहा था, जिसको लेकर ममता ने कहा था कि दशहरा का जूलूस अगले दिन निकाला जाए, वरना इससे कानून व्यव्स्था बिगड़ सकती है।

ममता बनर्जी का बड़ा ऐलान तो बीजेपी का पलटवार

ममता के इस ऐलान पर बीजेपी नेता गिरिराज ने कहा कि मैं गदा लेकर आऊंगा, ये सीएम ममता के लिए चुनौती है, रोक सके तो रोक लें। बताते चलें कि बीजेपी नेता ने आगे कहा कि कोलकाता की जनता भूली नहीं है, उस पर किस तरह से दुर्गापूजा में लाठीचार्ज कराया था। ऐसे में टीएमसी पर आरोप लगाते हुए गिरिराज सिंह ने कहा कि ममता हिंदुओं की विरोधी हैं, देश को बांटने की कोशिश कर रही है, यही वजह है कि कोई विशेष समुदाय ताजिया पर हथियार लेकर निकले तो ममता नहीं बोलती है, लेकिन राम भक्त उनके यात्रा में लाठी डंडा लेकर निकले तो ममता को ऐतराज है।

कोलकाता में कई जगह ममता का विरोध करते हुए बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पोस्टर फाड़े। पिछले दो सालों से ममता खुद दुर्गापूजा में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेती हुई नजर आती है। ममता ने अपने कार्यकर्ताओं को आदेश दिया है कि वो दुर्गापूजा में हमेशा बढ़ चढ़ कर हिस्सा लें। तो वहीं बीजेपी अक्सर ममता को हिंदु की विरोधी बताती हुई नजर आई है। ऐसे में देखना दिलचस्प बात तो यह है कि यह मुद्दा किस मोड़ पर मुड़ती है, ये तो खैर वक्त ही बताएगा।

Related Articles

Close