इस राजपूत परिवार से खौफ़ खाता है पूरा पाकिस्तान, बादशाहत ऐसी की मुस्लिम भी करते हैं नौकरी

नई दिल्ली – 1947 के बाद जब हिन्दुस्तान से पाकिस्तान अलग होकर एक नया देश बना। इसके बाद भारत ने खुद को धर्मनिरपेक्ष देश घोषित किया यानि यहां सभी धर्म के लोगों को समान अधिकार मिले। लेकिन, पाकिस्तान ने ऐसा नहीं किया। पाकिस्तान ने खुद को मुस्लिम देश घोषित किया यानि वहां इस्लाम के अलावा किसी अन्य धर्म को मानने वालों को वो आजादी नहीं है जो मिलनी चाहिए। इसीलिए पाकिस्तान से हर रोज हिन्दूओं और अन्य धर्म के लोगों की खिलाफ हिंसा की खबरें आती रहती हैं। लेकिन, आज हम आपको एक ऐसे हिन्दू परिवार से मिलने जा रहे हैं जिसके आगे पाकिस्तानी सरकार की भी नहीं चलती। इस हिन्दू परिवार से पूरा पाकिस्तान खौफ खाता है।

इस हिन्दू परिवार से पूरा पाकिस्तान खौफ खाता है

पाकिस्तान जैसे देश में जहां हिन्दुओं की हालत काफी खराब है वहां एक ऐसा राजपूत परिवार है जिसका रूतबा और इज्जत किसी राज घराने से कम नहीं है। यह राज घराना भारत और पाकिस्तान का बंटवारे के वक्त पाकिस्तान में चला गया। उनकी रियासत अमरकोट रियासत थी। लेकिन, अमरकोट रियासत के राजा करणी सिंह सोढा ने पाकिस्तान में अपनी वही राजशाही कायम रखी जो उस वक्त हुआ करती थी। करणी सिंह सोढा पाकिस्‍तान की इकलौते हिंदू राजा हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी की उनके परिवार ने कई मुस्लिम लोगों को नौकरी दी है जो ज्यादातर बॉडीगार्ड के पद पर हैं। पाकिस्तानी मुसलमानों का ये मानना है कि करणी सिंह सोढा का परिवार राजा पुरु यानी पारस के वंशज हैं। इसलिए, यहां के मुस्लमानों में उनका रुतबा है। यह पाकिस्तान का इकलौता हिन्दु परिवार है जिसकी वहां इतनी इज्जत की जाती है। इस परिवार का इतिहास भी काफी दिलचस्प है। इस परिवार की वहां की राजनीति में काफी गहरी पैठ है। इस वजह से न सिर्फ हिन्दु बल्कि मुस्लिम समुदाय के लोग भी इस परिवार की काफी इज्जत करते हैं।

क्या है पाकिस्‍तान की इकलौते हिंदू राजा का इतिहास

इस हिन्दू परिवार से पूरा पाकिस्तान खौफ खाता है और ये बात पूरी तरह से सच है। इस परिवार की तीसरी पीढ़ी इस समय यहां राज कर रही है। राणा चंद्र सिंह के बाद उनके बेटे राणा हमीर सिंह ने यहां राज किया। फिर राणा हमीर सिंह के बाद उनके बेटे करणी सिंह सोढा यहां राज कर रहे हैं। आपको बता दें कि राणा चंद्र सिंह ईस्ट-वेस्ट पाकिस्तान के 6 बार केबिनेट मंत्री रह चुके हैं। उन्होंने पाकिस्तान हिंदू पार्टी का गठन किया था। कुछ साल पहले जब देश के प्रधानमंत्री मोदी पाकिस्तान के आकस्मिक दौरे पर गए थे तो हमीर सिंह ने उनकी काफी तारीफ की थी।

आपको बता दें कि हमीर सिंह के बेटे करणी सिंह की पत्नी पद्मिनी राजस्थान की रहने वाली हैं। करणी सिंह सोढा पाकिस्तानी राजनीति में गहरी पैठ रखते हैं। करणी सिंह के दादा राणा चंद्र सिंह जब पाकिस्तान गए तो वो वहां राजनीतिक रूप से काफी सक्रिय रहे। इसके बाद अब करणी सिंह उनकी विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं। करणी सिंह के दादा राणा चंद्र सिंह ने पाकिस्तान हिंदू पार्टी का गठन किया था। साल 2009 में उनका निधन हो गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.