श्रीदेवी की मौत से आए कपूर फॅमिली में ये बदलाव, बेटियों ने ली चैन की सांस!

श्रीदेवी की मौत से आए कपूर फॅमिली में बदलाव: साल 2018 की 25 फरवरी शयद ही कभी कोई भूल पाएगा. इस दिन को बॉलीवुड का “ब्लैक डे” माना जा रहा है. 24 फ़रवरी की रात में सोकर उठने के बाद पूरे भारत को ज़ोरदार झटका लगा था. दरअसल, सबकी प्यारी हवा हवाई के अचानक हुए देहांत ने सबकी आत्मा को हिला कर रख दिया था. 25 फरवरी को हर टीवी चैनल पर श्रीदेवी की मौत की खबरें थी. किसी ने सोचा भी नहीं था कि रातों रात श्रीदेवी हम सब को छोड़ कर हमेशा के लिए दूर जाने वाली हैं. ख़बरों के अनुसार श्रीदेवी दुबई में अपने भांजे मोहित मारवाह की शादी अटेंड करने पहुंची हुई थी.

वहीँ उनकी मृत्यु हो गई. कुछ लोगों ने इस मौत की वजह कार्डियक अरेस्ट बताई जबकि कुछ के अनुसार श्रीदेवी का निधन ‘एक्सिडेंटल ड्राइंग’ यानी दुर्घटनावश डूबने के कारण हुई थी. उन्हें होटल के बाथ टब में बेसुद्ध पाया गया था.

जाह्नवी को लगा था करारा झटका 

जाह्नवी ने चुप्पी तोड़ी, श्रीदेवी की मौत के बाद पहली बार जाह्नवी ने चुप्पी तोड़ी, सोशल मीडिया पर कह डाला सब कुछ

श्रीदेवी बॉलीवुड के कामयाब और सुपरस्टार अभिनेत्रियों की लिस्ट में सबसे ऊपर थी. अचानक से हुई मौत के कारण पूरा भारत दंग रह गया था. वहीँ जब बेटी जाह्नवी को अपनी माँ की मौत के बारे में पता चला तो वह अपनी पहली फिल्म की शूटिंग बीच में ही छोड़ कर दुबई चली गई. हालांकि, अब जाह्नवी और अन्य परिवार जनों की रोजमर्रा जिंदगी में पहले से काफी सुधार आ गया है और जाह्नवी फिल्म की शूटिंग के लिए वापिस लौट गई हैं.

वहीँ दूसरी और छोटी बिटिया ख़ुशी ने भी पढ़ाई कंटिन्यू कर दी है और पति बोनी कपूर भी काम काज में जुट गए हैं. हालांकि, श्रीदेवी के जाने का गम कोई नहीं भूल सकता मगर उनके जाने के बाद से ही कपूर फॅमिली में काफी बदलाव दिखाई दे रहे हैं. चलिए एक नजर डालते हैं उन बदलावों की ओर.

अर्जुन के दिल में बहनों के लिए उमड़ा प्यार

आपको हम बता दें कि श्रीदेवी बोनी कपूर की दूसरी पत्नी थी. श्रीदेवी ने दो बेटियों(जाह्नवी और ख़ुशी) को जन्म दिया था. जबकि, बोनी को उनकी पहली पत्नी से दो बच्चे (अर्जुन और उनकी बहन) थे. जब तक अर्जुन की सौतेली माँ यानि श्रीदेवी जिंदा थी, वह उनसे  भी प्यार नहीं करते थे और उन्हें इग्नोर करते थे. परन्तु अब अर्जुन कपूर तीनों बहनों के साथ काफी प्रेम से रह रहे हैं.

बाप और बहनों के अर्जुन बने एकमात्र सहारा

बोनी कपूर ने जब दूसरी शादी श्रीदेवी से की तो अर्जुन कपूर काफी खफ़ा हो गए थे और अपने पिता को भी नफ़रत की निगाह से देखने लगे थे.  मगर श्रीदेवी के पार्थिव शरीर को दुबई से भारत लाने में पिता बोनी को बेटे अर्जुन का भरपूर सहयोग मिला. वहीँ दूसरी और अर्जुन अपनी बहनों जाह्नवी और ख़ुशी के साथ चट्टान बन कर खड़े हैं. जाह्नवी अपने भाई के प्यार और सहयोग मिलने से काफी हैं और अपनी माँ का सपना(सुपरस्टार बनते देखने का ड्रीम) साकार करने में जुट गई हैं.

आपको हम बता दें कि जाह्नवी अपनी पहली फिल्म “धड़क” को लेकर इन दिनों काफी व्यस्त हैं. हाल ही में उनकी सोसिअक्ल मीडिया पर एक तस्वीर काफी वायरल हुई थी जिसमे वह श्रीदेवी की तरह माथे पर बिंदिया लगा कर फ़ोटो खिंचवा रही थी. कुछ लोगों के अनुसार बेटी जाह्नवी में श्रीदेवी का ही रूप झलकता नज़र आ रहा है.