कहते हैं इस दुनिया में हर चीज़ को समझना आसान है सिवाए लड़कियों के. क्यूंकि लड़कियां जैसी सरल दिखती हैं, अंदर से उतनी ही उलझी हुई होती हैं. यहाँ तक कि साइंस भी लड़कियों को पूरी तरह समझने में नाकामयाब रहा है. वैसे तो लड़कियों की लाइफ का सिंपल फंडा होता है कि उन्हें झूठ बोलने वाले लड़कों से एलर्जी होती है. मगर इसके विपरीत वह खुद झूठ बोलने में एक्सपर्ट होती हैं. अगर आपकी भी कोई गर्लफ्रेंड है और आप सोचते हैं कि वह आपसे कभी झूठ नहीं बोल सकती तो ये आपके मन का बहुत बड़ा भ्रम है. क्यूंकि इस दुनिया में लगभग 97% लड़कियां अपने बॉयफ्रेंड से ये 5 बातें जिन्हें लड़कियां झूठ बोलती हैं. आज के इस आर्टिकल में हम आपको लड़कियों के कुछ ऐसे ही झूठ बताने जा रहे हैं, जिन्हें वह अपने साथी से बड़ी चालाकी से बोलती हैं.

हाँ में हाँ मिलाना

“द रिचेस्ट” मैगजीन के अनुसार लड़कियों के अंदर ईर्ष्या की भावना सबसे अधिक पाई जाती है. ऐसे में अगर आप अपनी गर्लफ्रेंड के सामने किसी अन्य लड़की की तारीफ करते हैं तो वह भले ही उस समय अपनी फीलिंग्स शो नहीं करती और ऐसा जताती है जैसे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता. इसके अलावा कुछ लड़कियां तो बॉयफ्रेंड की बात में झूठी हाँ में हाँ मिला देती हैं. पर एक ना एक दिन वह उस बात का गुस्सा आप पर निकाल कर छोड़ती हैं.

मेकअप का झूठ

आज के इस बदलते दौर में फैशन और मेकअप हर लड़की की पहली चॉइस हैं. ऐसे में लड़कियां खाना भूल सकती हैं मगर मेकअप करना नहीं भूल सकतीं. अक्सर लड़कियां अपने बॉयफ्रेंड को झूठ बोलती हैं कि वह किसी प्रकार का कोई मेकअप नहीं करती ना ही अपने आप पर अधिक ध्यान देती हैं जबकि, हकीक़त कुछ और ही है.

मस्ती करने को बोलना

आज के समय में हर कोई अपने काम काज में इतना व्यस्त हो गया है कि किसी को मस्ती और एन्जॉय करने का वक़्त ही नहीं मिल पाता. ऐसे में अगर कोई लड़का दोस्तों के साथ आउटिंग पर जाना चाहे तो लड़कियां काफी चिढ़ जाती हैं. क्यूंकि हर लड़की अपने बॉयफ्रेंड के साथ खाली समय बिताना चाहती है और एन्जॉय करना चाहती है. ऐसे में वह ना चाहते हुए भी कईं बार कह देती है कि “जाओ दोस्तों के साथ थोडा मस्ती मजाक कर आओ” जबकि अंदर से वह उस बात का विरोध करती हैं.

स्पेस देने का झूठ

महिलाओं को अपने पार्टनर से ये 4 सवाल पूछने में आती है शर्म, जानिए कौन से हैं वो सवाल?

अक्सर लड़कियां बॉयफ्रेंड को स्पेस देने का झूठ बोलती हैं. वह उन्हें ऐसे जताती हैं कि उन्हें उनके साथी के व्यस्त होने से कुछ ख़ास फर्क नही पड़ता और वह उनके समय की कदर करती हैं. जबकि, ऐसा बिलकुल भी नहीं है. क्यूंकि हर लड़की चाहती हैं कि उसका  ब्वॉयफ्रेंड उससे समय-समय पर बात या चैट करता रहे और उनके बुलाते ही हाज़िर हो जाए.

खुश दिखने का दिखावा

जब किसी लड़की को अपने साथी पर गुस्सा आता है तो वह उसको सीधी तरह से नहीं जताती और उसको नार्मल होने का दावा करती हैं. जबकि उनका चिडचिडा और गुस्सेल व्यवहार सब कुछ ब्यान कर देता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.