केवल संगीत सुनकर जड़ से ख़त्म कर सकते हैं इन बीमारियों को, जानिये संगीत के सुनने के फायदे

संगीत सुनने के फायदे: आज के बिज़ी लाइफ़ में लोगों के पास ख़ुद की सेहत का ख़याल रखने के भी समय नहीं है। यही वजह है कि आज व्यक्ति तरह-तरह की शारीरिक समस्याओं से परेशान है। कुछ लोगों की समस्याएँ उनके लाइफ़स्टाइल की वजह से उत्पन्न होती हैं। आज के समय में लोगों के खान-पान में भी बहुत ज़्यादा बदलाव हो चुका है। आजकल की युवा पीढ़ी ज़्यादातर जंक फ़ूड खाना पसंद करती है, ऐसे में मोटापा आज के समय में सबसे बड़ी समस्या बनती जा रही है। इसके साथ ही लोग मानसिक तनाव जैसे रोगों का भी शिकार बनते जा रहे हैं।

मूड ठीक करने के लिए सुनते हैं संगीत:

प्राचीन समय से यही कहा जाता रहा है कि संगीत स्वास्थ्य के लिए बड़ा ही फ़ायदेमंद होता है। इसको सुनने से व्यक्ति का ख़राब से ख़राब मूड भी तुरंत ठीक हो जाता है। अगर व्यक्ति तनाव में है तो उसका तनाव भी काम हो जाता है। अक्सर आपने देखा होगा कि कई लोगों की आदत होती है कि अगर वह ग़ुस्से या परेशानी में होते हैं तो अपना मूड ठीक करने के लिए संगीत का सहारा लेते हैं। संगीत सुनने से व्यक्ति को काफ़ी फ़ायदा भी होता है। कंसास मेडिकल सेंटर अमेरिका की एक शोध के अनुसार यह बात साबित की गयी है कि संगीत का मनुष्य के दिमाग़ पर सकारात्मक असर पड़ता है।

संगीत से सम्बंध शुरू हो जाता है पेट के अंदर से ही:

अमेरिकन सोसायटी ऑफ़ हाइपरटेंशन के अनुसार अगर उच्च रक्तचाप वाले मरीज़ हर रोज़ सुबह-शाम संगीत सुनते हैं तो ख़ुद ही उनका रक्तचाप सामान्य हो जाता है। इसक साथ ही कई अन्य फ़ायदे भी होते हैं। आज हम आपको बताने जा कि अगर कोई भी व्यक्ति सॉफ़्ट और रिलैक्सिंग संगीत सुनता है तो उसकी 8 तरह की शारीरिक समस्याएँ हमेशा के लिए दूर हो जाती हैं। ऑस्ट्रिया जनरल हॉस्पिटल के मनोचिकित्सक फ्रैंज्स वेंडनर ने इसे इंसान के जन्म से जोड़कर बताया है कि, संगीत से किसी भी व्यक्ति का सम्बंध पेट के अंदर से ही शुरू हो जाता है। उस समय बच्चा माँ के दिल की धड़कन और ब्रीदिंग सुनकर ही बच्चा प्रसन्न होता है।

संगीत सुनने के फायदे :

*- संगीत सुनने से ऑस्टियोपरोसिस और आर्थराइटिस जैसी बीमारियों के दर्द को आसानी से काम किया जा सकता है।

*- संगीत सुनने से शरीर में एंडोर्फ़िन हार्मोंस रिलीज़ होते हैं, इससे दर्द से राहत मिलती है।

*- हर दिन सुबह-शाम केवल आधा घंटा संगीत सुनने से हाई ब्लड प्रेसर को काम किया जा सकता है।

*- सॉफ़्ट और रिलैक्सिंग संगीत सुनने से हार्टबीट और ब्रीदिंग रिलैक्स होती है और सामान्य गति से चलती है। यह आपके दिल को स्वस्थ्य रखता है।

*- एक शोध के अनुसार जब किसी व्यक्ति को स्ट्रोक आता है तो उसे क्लासिकल संगीत सुनना चाहिए, इससे व्यक्ति का ब्रेन तेज़ी से रिकवर होता है। व्यक्ति के दिमाग़ और अटेंशन में काफ़ी सुधार होता है।

*- सॉफ़्ट संगीत सुनने से माइग्रेन के रोगियों को काफ़ी फ़ायदा होता है। इससे माइग्रेन का दर्द काफ़ी काम हो जाता है।

*- संगीत सुनने से इमोशनल एकसपीरिएँस अच्छा होता है। इससे स्ट्रेस से सम्बंधित कर्टिसोल हार्मोंस बॉडी में काम बनता है। यह बीमारी से लड़ने की क्षमता को बढ़ाता है।

*- अक्सर डिलीवरी के बाद महिलाओं को दर्द और घबराहट की समस्या का सामना करना पड़ता है। संगीत सुनने से यह सब काम हो जाता है।

 

*- टिनाईटस और कान में आवज सुनाई देना एक समस्या है, इसका कोई इलाज नहीं है। लगातार संगीत सुनते रहने से इस समस्या से बचा जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.