विशेष

हरियाणा का ये जवान जिसने लाखों का पैकेज और मॉडलिंग ठुकराकर ज्वाइन की आर्मी, गर्व है.!

नई दिल्लीः  हरियाणा के गांव सिसाना में जन्मे सूर्य दहिया(Surya Dahia) ने शुरूआती पढ़ाई- लिखाई आईबी स्कूल रोहतक से कि और वे मोबाइल कंपनी के लिए ऐड भी कर चुके हैं। उनके पिता नरेश दहिया व दादा नफे सिंह भारतीय नौसेना में थे।

joined Army reject the package and modeling

एक नहीं, दो-दो लड़ाइयां लड़कर नाम रोशन किया। अब उनका बेटा सूर्य दहिया स्पेशल कमीशंड ऑफिसर के तौर पर उनका नाम रोशन कर रहा है। खास बात यह कि सूर्य ने मॉडलिंग और लाखों रुपए का विदेशी पैकेज ठुकराकर आर्मी ज्वाइन करने का फैसला लिया। सूर्य ने एमबीए किया हुआ हैं।

विदेश में मिल रहे लाखों का ऑफर ठुकराया –

 

joined Army reject the package and modeling

सूर्य के पिता नरेश दहिया ने बेटे के बारे में बताया कि उसे विदेश में अच्छे जॉब का ऑफर मिला था। बावजूद बेटे ने इंडियन आर्मी का करियर चुना। उन्होंने बताया कि सूर्य ट्रेनिंग के दौरान भी अव्वल रह चुका है। ट्रेनिंग में हर बैच के तीन कैडेट्स को विदेश ले जाया जाता है। सूर्य को इन कैडेट्स में शामिल होकर इंडोनेशिया जाने का मौका मिला।

सूर्य को कैडेट्स में शामिल होकर इंडोनेशिया जाने का मौका मिला। बता दें कि सूर्य इस वक्त 122 इंजीनियर्स आरईजीटी बठिंडा में तैनात हैं। सूर्य 1971 में भारत-पाक युद्ध में परमवीर चक्र विजेता कर्नल होशियार सिंह को अपना आदर्श मानता है। सूर्य उसी गांव से हैं, जहां से कर्नल होशियार सिंह हैं।

मोबाइल कंपनी के लिए ऐड भी कर चुके हैं सूर्य (Surya Dahia) –

 

joined Army reject the package and modeling

हरियाणा के गांव सिसाना में जन्मे सूर्य दहिया (Surya Dahia) ने शुरूआती पढ़ाई- लिखाई आईबी स्कूल रोहतक में ही की। इसके बाद बहादुरगढ़ के पीडीएम कॉलेज से बीटेक की पढ़ाई के बाद उन्होंने कैट में 90 प्लस स्कोरिंग हासिल कर दिल्ली के फोर स्कूल ऑफ मैनेजमेंट से एमबीए किया।

इस दौरान सूर्य (Surya Dahia)को मॉडलिंग के फील्ड में भी करियर बनाने का मौका मिला। उन्होंने एक मोबाइल कंपनी का ऐड भी किया। एमबीए पूरा करते ही फ्रांस की नामी कंपनी में अच्छे पैकेज का मौका मिला। लेकिन सूर्य ने उसे छोड़ दिया।

 

Related Articles

Close