राशिफल

सोमवार को जरुर करें शिवपुराण के ये उपाय, हमेशा के लिए दूर हो जायेगा आपकी आर्थिक तंगी

शिवपुराण के उपाय: देवों के देव महादेव यानी भगवान शंकर की महिमा से हर व्यक्ति परिचित है। भगवान शंकर को उनके भक्त कई नामों से जनते हैं। शंकर, महादेव, भोलेनाथ, नीलकंठ, शिव, महाकाल, त्रिकाल आदि नाम भगवान शंकर के प्रसिद्द हैं। हिन्दू धर्म के तीन महत्वपूर्ण देवताओं में भगवान शिव का सबसे महत्वपूर्ण स्थान है। इन्हें ही श्रृष्टि के रचयिता के रूप में जाना जाता है। इन्होने ही ब्रह्मा जी को श्रृष्टि की रचना करने का आदेश दिया था। भगवान शिव की महिमा अपरम्पार है। ये अपने भक्तों की हर पुकार को सुनते हैं।

क्रोधित होने पर खौफ खाते हैं देवी-देवता भी:

भगवान शिव के मंदिर भारत के हर कोने में स्थित हैं। भगवान शिव के कई मंदिर तो इतने ज्यादा प्राचीन और प्रसिद्द हैं, कि उनके दर्शन के लिए विश्व के कोने-कोने से हिन्दू धर्म को मानने वाले लोग आते हैं। भगवान शिव के कई मंदिर विदेशों में भी स्थित हैं। भगवान शिव आमतौर पर हमेशा भोले ही रहते हैं, लेकिन जब इन्हें क्रोध आ जाता है तो यह अपने क्रोध से किसी को भी भष्म करने की ताकत रखते हैं। यहाँ तक कि इनके क्रोधित होने पर देवी-देवता भी इनसे खौफ खाते हैं।

शिवपुराण के उपाय :  कुंडली दोष दूर करने के उपाय:

भगवान शिव की महिमा का बखान करने वाला ग्रन्थ शिवपुराण है। इस ग्रन्थ में भगवान शिव की महिमा के साथ ही जीवन की कई परेशानियों से मुक्ति के उपाय भी बताये गए हैं। इसी ग्रन्थ में कुंडली के ग्रह दोषों को दूर करने के भी कई उपाय बताये गए हैं। जो व्यक्ति शिवपुराण के इन उपायों को करता है, उसके जीवन का दुर्भाग्य भी दूर हो जाता है और जीवन में धन-दौलत की भी कोई कमी नहीं रहती है। शिवपुराण के अनुसार सप्ताह के अलग-अलग दिनों में इन देवताओं की पूजा करनी चाहिए। जानिए सप्ताह के किस दिन कौन-कौन से उपाय करने चाहिए।

इन-इन दिनों में करें  शिवपुराण के उपाय

:

*- सोमवार:

सोमवार को चन्द्र देव का दिन माना जाता है। चन्द्र देव को धन-संपत्ति का दाता भी माना जाता है। इस दिन किसी गरीब व्यक्ति और उसकी पत्नी को साथ में भोजन करवाएं। भोजन में शुद्ध देशी घी से बने हुए पकवान जरुर होने चाहिए।

*- मंगलवार:

मंगलवार के स्वामी मंगल देव हैं। ये बिमारियों को दूर करते हैं। इन्हें प्रसन्न करने के लिए मंगलवार को महाकाली की पूजा करें। इसके साथ ही किसी गरीब को अवश्य भोजन करवाएं। भोजन में मूंग, उड़द या तुवर की दाल जरुर होनी चाहिए।

*- बुधवार:

इस दिन के स्वामी बुध देव हैं। बुधवार के दिन भगवान विष्णु को दूध से बने हुए पकवानों का भोग लगायें। इस पूजा से बुध देव प्रसन्न होते हैं।

*- गुरुवार:

इस दिन के स्वामी बृहस्पतिदेव हैं और ये व्यक्ति की आयु बढाते हैं। बृहस्पतिदेव को प्रसन्न करने के लिए वस्त्र, यज्ञोपवित और खीर से अपने इष्टदेव की पूजा करें।

*- शुक्रवार:

इस दिन के स्वामी शुक्रदेव हैं। इन्हें सुख-समृद्धि का देवता भी माना जाता है। शुक्रदेव को प्रसन्न करने के लिए किसी गरीब महिला को सुहागन की चीजें दान करें। साथ में अन्न का भी दान करें।

*- शनिवार:

इस दिन के देवता शनिदेव हैं। ये मृत्यु और डर को व्यक्ति से दूर रखते हैं। शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार के दिन शिवलिंग पर काला तिल अर्पित करें। साथ ही किसी गरीब व्यक्ति को तिल से बना हुआ भोजन भी करवाएं।

*- रविवार:

इस दिन के देवता सूर्यदेव हैं। इन्हें निरोग का देवता भी कहा जाता है। इन्हें प्रसन्न करने के लिए प्रतिदिन सूर्यदेव को जल अर्पित करें। इसके साथ ही किसी गरीब व्यक्ति को गुड़ का दान भी करें।

आपको बता दें कि इस आर्टिकल को लिखने से पहले सभी तरह की जानकारियों पर बारीकी से ध्यान दिया गया है। अगर आपको लिखी गयी बातों पर यकीन है तो ठीक नहीं तो आप इन बातों को किसी जानकार व्यक्ति से सत्यापित करवा सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button