“मिसेज इंडिया एशिया इंटरनेशनल” ऐसा रहा इस बार की “ब्यूटी क्वीन” लक्ष्मीप्रिया का सफर

दिल्लीः एक औरत के लिए ग्लैमर जगत में कुछ हासिल करना कभी आसान नहीं रहा है, क्योंकि आपको एक बेटी, एक बहन, पत्नी या एक माँ के रूप में कई सारी जिम्मेदारियों को निभाना पड़ता है। हमारे जीवन में कठिनाइयाँ आती रहती हैं लेकिन सफलता हमारी इच्छा शक्ति पर निर्भर करती है।  Mrs India Asia International.

Mrs India Asia International

हमने हाल ही में, लक्ष्मीप्रिया के जीवन के कुछ पहलुओं में झांकने का अवसर मिला, जिनकी किलर स्माइल आपको उनका कायल बना देगी, लेकिन उनका समर्पण आपको भी अपने लक्ष्यों को पुरा करने के लिए एक नई ऊर्जा प्रदान करेगा।

लक्ष्मीप्रिया ने हाल ही में चेन्नई के होटल हिल्टन में आयोजित प्रतियोगिता मिसेज इंडिया ब्यूटी पैजेंन्ट में एक टाइटल और एक सबटाइटल का खिताब जीता है।

लक्ष्मीप्रिया ने टाइटल : मिसेज इंडिया एशिया इंटरनेशनल 1st रनर अप”  और सबटाइटलःमिसेज ब्यूटीफुल स्माइल” का खिताब जीता है।

पेश है लक्ष्मीप्रिया के जीवन और उनके यहाँ तक के सफर पर आधारित इंटरव्यू के कुछ अंश –
आप खुद को किस तरह से देखती हैं? एक शब्द में आप खुद को कैसे  डिस्क्राइब करेंगी (Mrs India Asia International) ?

Mrs India Asia International

मैं ये मानती हूँ कि सभी कि लाइफ में चाहें वो मैं हूँ या कोई सेलिब्रिटी हो या कोई आम इंसान हो हर किसी में कठिनाइयाँ आती हैं। और ये कठिनाइयाँ ही इंसान को मजबुत बनाती हैं। मैने अपने बचपन से ही काफी कठिनाइयों का सामना किया है, जिससे मुझे एक चीज सिखने को मिली कि कठिनाइयाँ आपको और मजबुत करती हैं।  मेरा यह मानना है कि तकलीफें मुझे मेरे सपनों को पुरा करने से नहीं रोक सकती। मैं एक गो – गेटरवुमन हूँ। क्योंकि मैं एक मिडिल क्लास फैमिली से हूँ इसकी मुझे हार्डवर्क कि कीमत पता है।

अगर मुझे एक शब्द में खुद को डिस्क्राइब करना हो तो मैं यही कहुँगी कि मैं एक जुझारु औरत हूँ और मुश्किलें मुझें मेरे सपनों को पुरा करने से नहीं रोक सकती।

आपको ब्यूटीफुल स्माइल का टाइटल दिया गया है, इस बारें में आपका क्या कहना है (Mrs India Asia International)?

 Mrs India Asia International

मुझे लगता है कि स्माइल एक ऐसी चीज है जो किसी भी मुश्किल में आपको एक नई ऊर्जा दे सकती है। जब भी मुझे लगता हैं कि चीजें में हिसाब से नहीं हो रही या सही नहीं हो रही तब भी मैं स्माइल करती हूँ। हँसना में शख्सियत का हिस्सा है। बचपन से लोग से मुझे कहते थे कि मेरी स्माइल बहुत प्यारी है और मिसेज इंडिया एशिया इंटरनेशनल में भी मुझे यह टाइटल दिया गया है।

आप डॉक्टर बनना चाहती थी और अभी आप एक फार्मस्यूटिकल कंपनी में काम कर रहीं है, इस बारें में क्या कहना चाहेंगी?

Mrs India Asia International

हाँ, बचपन से मैं डॉक्टर ही बनना चाहती थी, ये मेरे सपना था।  लेकिन मेडिकल कि पढ़ाई के लिए आपको बहुत फोकस होने कि और सही गाइडेंस कि जरुरत है। अगर मैं अपनी फैमिली कि बात करुँ तो मेरी फैमिली में किसी ने भी मुझसे पहले सांइस स्ट्रीम से पढ़ाई नहीं कि थी। मैं अपनी फैमिली में पहली थी जिसने सांइस स्ट्रीम से पढ़ाई का निर्णय लिया। 12 वीं तक मेरे अच्छे नंबर रहे जिससे मुझे मेडिकल के लिए हिम्मत मिली।

क्योंकि, मेरे पिता वकील हैं और हम तीन भाई बहने हैं। इसलिए फैमिली में हम तीनों को एक साथ टेक्निकल पढ़ाई कराना आसान नहीं था। मैंने सोचा था कि अगर पहले अटेम्पट में मेडिकल कि इग्जाम क्लियर नहीं हुआ तो कुछ और कोशिश करुँगी, क्योंकि मैं नहीं चाहती थी कि मेरी वजह से मेरे भाई बहन कि पढ़ाई में कोई समस्या हो।

बैचलर इन फार्मेसी में मेरा एडमिशन हो गया जो 4 साल का कोर्स है। उसके बाद मेरे लिए जॉब करना जरुरी हो गया क्योंकि मैंने अपनी पढ़ाई लोन लेके कि थी।  अभी मैं एक फार्मस्यूटिकल कंपनी में सिनियर प्रोटेक्ट मैनेजर के रुप में कार्य कर रही हूँ।

आपको लगता है कि शादी के बाद अपने सपनों को पुरा करना मुश्किल होता है?

Mrs India Asia International

जी हाँ, मुश्किल होता है। मेरा मिसेज इंडिया में भाग लेने का एकमात्र मकसद लोगों को यह बताना कि जो औरत मिडिल क्लास फैमिली से है वह भी बड़े सपने देख सकती है और पुरा कर सकती है। मैं एक साधारण औरत हूँ जिसके सपने बड़े हैं। मेरा सपना था कि कोई ऐसा दिन आएं जब मेरे सर पे भी क्राउन हो, लेकिन मेरे मम्मी-पापा इस बात को हँसी में उड़ा  देते थे कि तुम एक मॉडल जैसी नहीं दिखती।

मिसेज इंडिया में भाग लेने का एक उद्देश्य लोगों को यह बताना था कि किसी ब्यूटी क्वीन का खिताब पाने के लिए आपको बहुत ज्यादा खुबसुरत होने कि जरुरत नहीं है बस आपके हौसले बड़े होने चाहिए। इसके अलावा लोग कहते हैं कि अगर आप कॉरपोरेट सेक्टर में ज़ॉब करने के बाद आपकी लाइफ 9 से 5 के बीच रह जाती है। जिसे मुझे गलत साबित करना था।

और शादी और प्रेसनेंसी के बाद लोगों ने कहा कि अब कैरियर और बच्चे पर ध्यान दो। तो मैंने सोचा कि बच्चा तो एक दिन बड़ा हो जाएगा फिर मेरे सपनों का क्या होगा। फिर मैंने अपना वेट कम किया और मिसेज इंडिया एशिया में भाग लिया और मिसेज इंडिया टाइटल जीता।

आपके अनुसार ग्लैमर इंडस्ट्री में कैरियर बनाने के लिए सबसे ज्यादा क्या जरुरी है?

Mrs India Asia International

ग्लैमर इंडस्ट्री एक बहुत ही चैलेंजिंग इंडस्ट्री है। लोग कहते हैं कि मेहनत से सब कुछ हासिल किया जा सकता है, मैं भी यह मानती हूँ।  लेकिन ग्लैमर इंडस्ट्री में सिर्फ मेहनत से काम नहीं होता इसमें कई और चीजों का होना जरुरी है। जैसे कुछ लड़कियाँ गलत रास्तों पर भी चली जाती है। लाइफ से समझौता कर लेती हैं। लेकिन मेरा मानना है कि औरत होने के नाते आपको मजबुत स्टैंड लेना चाहिए और हार्डवर्क के साथ-साथ अपने संस्कारों से कभी समझौता नहीं करना चाहिए।

मिसेज इंडिया का टैगलाइन भी यही है। मिसेज इंडिया एक रोल मॉडल को प्रस्तुत कर रहा है न कि सिर्फ मॉडल को। मेरा मानना है कि रोल मॉडल होना जरुरी है। मैं बताना चाहती हूँ आगे जाना जरुरी है लेकिन अपनी फैमिली को लेकर समझौता नहीं करना चाहिए। उसे हमेशा सबसे ऊपर रखना चाहिए।

आप फैमिली और कैरियर दोनों में सफल हैं, इसके पीछे क्या राज है?

 जैसा कि मैंने बताया कि मैं एक सामान्य परिवार से हूँ। बचपन से मेरे भी छोटे – छोटे सपने थे।  अपने मम्मी-पापा को शहर में पढाई करने के लिए मनाना ही मेरे लिए सबसे बड़ा चैलेंज था। जिसने मुझे हिम्मत दी कि मैं किसी को भी सही बात के लिए समझा सकती हूँ। मैंने अपनी कम्यूनिटी को अपने मम्मी-पापा को मनाया और पढ़ाई के लिए गॉव से शहर आई।

 ग्लैमर इंडस्ट्री में कैरियर बनाने के सपने देखने वाली लड़कियों से आप क्या कहना चाहेंगी?

Mrs India Asia International

ग्लैमर इंडस्ट्री में कैरियर बनाने के लिए डिसप्लिन सबसे ज्यादा जरुरी है। इसके अलावा पॉजिटिव एटिट्यूट होना चाहिए और नकारात्मकता को तो अपने आस-पास भी नहीं आने देना चाहिए। कोई भी क्षेत्र हो शुरुआत में असफलता तो मिलती ही। लेकिन आपने सपनों को पुरा करने के लिए स्टेप बाई स्टेप आगे बढ़ते रहिए।

मिसेज इंडिया एशिया इंटरनेशनल का खिताब जितने के बाद आपका आगे के भविष्य को लेकर क्या प्लान हैं (Mrs India Asia International) ?

Mrs India Asia International

फार्मस्यूटिकल ब्राँडिग मेरा पैशन है, जिसमें मेरे डॉक्टर मेरे कस्टमर होते है और यह मेरा सपना भी है। इस काम तो मैं कभी छोड़ नहीं सकती। लेकिन मैं अपने सपनों को भी जीना चाहूँगी अगर मुझे मौका मिला तो मैं सीरियल या एड में काम जरुर करना चाहूँगी। क्योंकि मेरा बेटा अभी काफी छोटा है इसलिए मूवी तो अभी नहीं कर सकती। क्योंकि इसके लिए घर से दूर रहकर महिनों तक शुटिंग करनी पड़ती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.