60 साल पुराने इस पेड़ से निकली इस चीज की ममी, देखकर किसी को नहीं हुआ यकीन

प्रकृति हमें कैसे-कैसे नज़ारे दिखाती है, इसका अंदाजा हम सभी लोगों को है। कई बार प्रकृति कुछ ऐसे नज़ारे दिखा देती है, जिसे देखने के बाद अच्छे-अच्छे लोगों को अपनी आँखों पर यकीन नहीं होता है। ऐसी घटनाओं को देखने के बाद अक्सर सभी लोगों का दिमाग भी चकरा जाता है। लोग समझ ही नहीं पाते हैं कि आखिर यह कैसे संभव है। हाल ही में एकदम ऐसी ही घटना देखने को मिली है, जिसने सभी लोगों के दिमाग चकरा दिए हैं। लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि आखिर ऐसा कैसे हो गया।

पुराने पेड़ से मिला कुत्ते का ममी:

दरअसल यह घटना जार्जिया की है। यहाँ के जंगलों में लकड़ी काटने वालों को एक ऐसी घटना देखने को मिली है, जिसके बाद सभी लोग हैरान हो गए हैं। बात हालाँकि काफी पुरानी है। सालों पहले जब जंगलों से पेड़ों को काटा जा रहा था, तब एक पुराने पेड़ को काटते समय पेड़ के तने में एक अजीबो-गरीब चीज देखने को मिली। दरअसल यह अजीबो-गरीब चीज कुछ और नहीं बल्कि एक कुत्ते का ममी था। जिसे देखकर सभी लोग दंग हो गए थे।

वैज्ञानिक भी नहीं समझ पा रहे आखिर कैसे पेड़ में घुसा कुत्ता:

कुत्ते का यह कंकाल पेड़ में होने की वजह से बिलकुल उसी की तरह का हो गया था। यह कंकाल ठोस और डरावना हो गया था। वैज्ञानिकों ने इस कंकाल को देखने के बाद यह दावा किया है कि यह पिछले 20 सालों से पेड़ में ही फंसा हुआ है। पेड़ के अन्दर कुत्ते को इस हालत में देखकर वैज्ञानिक भी काफी हैरान हो गए थे। लोगों के साथ वैज्ञानिक भी नहीं समझ पा रहे थे कि आखिर यह कुत्ता इस पेड़ के अन्दर आया कैसे। सोशल मीडिया पर इसे देखने के बाद लोगों ने इसे जादू-टोना तक बता दिया। हालाँकि जल्दी ही इस राज से पर्दा उठा दिया गया।

भूख और प्यास से तड़पकर मर गया होगा कुत्ता:

वैज्ञानिकों का दावा है कि हो सकता है कि कुत्ता किसी छोटे जानवर का शिकार करने के चक्कर में जमीन खोदते हुए इस खोखले हो चुके पेड़ के अन्दर नाम में पहुँच गया होगा। पेड़ में लगभग 28 फीट तक ऊपर चढ़ने के बाद जब उसने वापस मुड़ना चाहा होगा तो वापस नहीं मुड़ पाया होगा। कई दिनों तक पेड़ के ताने में फंसे रहने की वजह से भूख और प्यास से वह तड़पकर मर गया होगा। कुत्ता ऐसी जगह फंसा हुआ था कि किसी को इस बारे में बिलकुल भनक भी नहीं लग पायी होगी।

पेड़ के रसायनों की वजह से ठोस बन गया कुत्ता:

इस मामले में सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि काफी सालों से कुत्ते का शरीर पेड़ के तने में फंसा हुआ था। वह सड़ने की बजाय ममी का रूप ले चुकी थी। कुत्ते नका शरीर ठीक उसी तरह था, जैसे वह पहले रहा होगा। जानकारों ने बाद में बताया कि पेड़ के तने में हवा का बहार ऊपर की तरफ था, जिसकी वजह से दुसरे मांसाहारी जिव और बैक्टीरिया उसतक नहीं पहुँच पाए होंगे। वहीँ पेड़ में कुछ ऐसे रसायन रहे होंगे जिसकी वजह से कुत्ते का शरीर सड़ने की जगह ठोस में तब्दील हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.