लोकसभा के लिए बीजेपी की चाल आयुष्मान योजना आई बजट में, क्या जनता देगी साथ ?

नई दिल्ली: एक फरवरी को देश का आम बजट पेश किया गया है, जिसे लेकर देश में चर्चाएं खुूब हो रही है। बता दें कि इस बजट को चुनावी बजट का नाम दिया गया। हालांकि, चुनावी बजट के नाम से सत्ताधारी पार्टी बीजेपी लगातार मना करती हुई नजर आ रही है, लेकिन बजट की बारीकियों को जानकारो की माने तो सरकार ने आगामी चुनावों को ध्यान में रखते हुए ही इस बजट को पेश किया है। तो आइये जानते हैं कि इस बजट में ऐसी कौन कौन सी बाते हैं, जिससे बीजेपी 2019 के लक्ष्य का सपना बुनती दिख रही है?

मोदी सरकार के आखिरी पूर्ण बजट पर सबकी निगाहें टिकी हुई थी, क्योंकि माना जा रहा था कि सरकार इस बजट में लोकलुभावने वादे करेगी, लेकिन सरकार ने लोकलुभावने वादे को बड़ी ही चालाकी से पेश किया है। बता दें कि सरकार ने इस बजट में वोट बैंक को ध्यान में रखते हुए सभी फैसले लिये हैं। सरकार ने एक तीर से दो निशाने लगाएं। बताते चलें कि सरकार ने इस बजट में 40 फीसदी आबादी पर खूब ध्यान दिया है, इसके पीछे भी सरकार की चुनावी रणनीति छिपी हुई है।

1.  बजट में जिस योजना की खूब चर्चा की जा रही है, वो है आयुष्मान भारत योजना। जी हा, सरकार अपने इस योजना को लेकर पीठ थपथपाती फिर रही है। बता दें कि इस योजना के तहत सरकार ने एक तीर से दो निशाने साधे हैं, जोकि सरकार की कूटनीति को बिल्कुल साफ साफ दिखाती है। दरअसल, इस योजना से सरकार ने देश की 40 फीसदी आबादी पर निशाना साधा है, जोकि गरीब है। बता दें कि इस योजना को देश के 50 करोड़ गरीब लोगों के लिए लाई गई है, जिसके जरिये सरकार गरीबों को अपने खेमे में खींचने की पूरी तैयारी कर चुकी है।

2. आयुष्मान भारत योजना के तहत पीएम मोदी ने विपक्षीय पार्टियों को मुंह तोड़ जवाब दिया है। याद दिला दें कि विपक्ष की पार्टियां अक्सर यही कहती हुई नजर आ रही है कि मोदी सरकार गरीब विरोधी है, ये सरकार सिर्फ उद्योगपतियों के लिए है। ऐसे में विपक्ष की बातोंं का असर जनता पर न पड़े, इसलिए मोदी सरकार ने इस योजना से सीधे सीधे देश की 40 फीसदी आबादी को अपने खेमे में करने के साथ ही विपक्ष की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है।

मोदी सरकार ने तो जनता को आयुष्मान भारत की सौगात देने की तैयारी कर रही है तो ऐसे में सवाल ये उठता है कि सरकार को इस योजना के तहत क्या जनता 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को फिर से कहेगी तथास्तु? हालांकि मोदी सरकार से इस समय सबसे ज्यादा युवा नाराज दिख रहा है, क्योंकि सरकार ने रोजगार के वादे को अभी तक पूरा नहीं किया है, ऐसे में सरकार ने इस बजट में 70 लाख नौकरियां देने का वादा भी किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.