राम मंदिर का विरोध करने वाले मुस्लिम पाकिस्तान चलें जाएं, जानिये क्या है पूरा मामला

उत्तर प्रदेश: राम मंदिर पर जारी बहस खत्म होने का नाम नहीं ले रही है, ऐसे में उत्तर प्रदेश से एक बड़ा बयान सामने आया है, जिसकी वजह से सूबे में हलचल मच गई है। जी हां, यूपी से बयान सामने आया कि राम मंदिर का विरोध करने वाले मुसलमानों को पाकिस्तान चलें जाना चाहिए। अब इससे पहले आपके दिमाग में ये खिचड़ी पके कि ऐसा सीएम योगी ने कहा तो इस बात को हम यही खारिज करते हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि अगर सीएम योगी ने नहीं कहा तो किसने कहा, तो चलिए हम आपको बताते हैं कि ऐसा किसने कहा?

राम मंदिर के मुद्दे पर सूबे और देश में बीजेपी की सरकार आई है, ऐसे में सरकार अपने इस वादे को जल्दी ही पूरा करना चाहती है, लेकिन सरकार इसे कानूनी रूप से पूरा करना चाहती है ताकि देश में शांति का माहौल बना रहे, तो ऐसे में सवाल ये खड़ा होता है कि फिर ये कौन है, जो प्रदेश में सांप्रदायिक हिंसा को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहा है?

दरअसल, यूपी के शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन शुक्रवार को अयोध्या में नमाज पढ़ने के बाद बड़ा बयान दे दिया। जी हां, शिया वक्फ के चेयरमैन वसीम ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का विरोध करने वाले मुसलमानाोंं को पाकिस्तान या किसी और देश में चले जाना चाहिए, ऐसे लोगों की भारत में कोई जगह नहीं है। आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट राम जन्मभूमि विवाद पर आठ फरवरी से सुनवाई करने वाला है, ऐसे में पूरे देश की निगाहें सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर टिकी होंगी।

वसीम ने आगे कहा कि जो लोग अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर बनाने का विरोध कर रहे हैं, और जिन्हे मस्जिद चाहिए, ऐसे कट्टर लोगों को पाकिस्तान या बांग्लादेश चले जाना चाहिए। वसीम के बायन पर सूबे में हलचल मच गई है। बताते चलेंं कि कई लोगों ने इनका विरोध करते हुए कहा कि ऐसे लोगों को जेल में डाल देना चाहिए, जो देश का माहौल खराब कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.