हिन्दी समाचार, News in Hindi, हिंदी न्यूज़, ताजा समाचार, राशिफल

गर्ल्स स्पेशल: पीरियड्स में हैवी ब्लीडिंग और दर्द से हैं परेशान, तो अपनाएं ये आसान समाधान!

बेशक भगवान ने औरत और मर्द को एक सामान बनाया है. लेकिन, फिर भी उसने प्रजनन शक्ति केवल एक औरत को ही दी है. एक औरत ही माँ बनने का सुख और गौरव हासिल कर सकती है. इस दुनिया में औरत को ममता की देवी कहा जाता है. क्यूंकि, एक औरत ही 9 महीने तक अपना बच्चा कोख में रखती है और हजारों कष्ट झेल कर उसको जन्म देती है. यूँ मान लीजिये कि हर औरत का बच्चे के जन्म के बाद दूसरा जन्म होता है. ऐसे में भगवान ने औरतों को बच्चा जनने की शक्ति के साथ साथ मासिक धर्म जैसी बीमारी भी तोहफे में दी है. हर लड़की को 12 साल की उम्र से लेकर 45 साल तक मासिक धर्म के दर्द से गुजरना पड़ता है. मासिक धर्म को अंग्रेजी में पीरियड्स के नाम से जाना जाता है. आपको ये जानकर हैरानी होगी कि हर लड़की को महीने के 5 दिन दर्द से जूझना पड़ता है. पीरियड्स आना प्रेगनेंसी के लिए भी बेहद आवश्यक हैं. जिन लड़कियों को पीरियड्स नहीं आते, उनके लिए ये समस्या काफी परेशानी पैदा करती है.

पीरियड्स के दर्द को कम करने के उपाय

इसके इलावा आपको हम बता दें कि लड़कियों को पीरियड्स के दौरान दर्द के साथ ब्लीडिंग होती है. जिन लड़कियों को एक से दो बार हैवी ब्लीडिंग हो, उनके लिए ये एक समान्य बात है. लेकिन, जिन लड़कियों को हर महीने ही भारी ब्लीडिंग का सामना करना पड़ रहा है, तो ये उनके लिए घातक सिद्ध हो सकता है. ऐसे में आपको इलाज की तुरंत आवश्यकता होती है. आज हम आपको 4 ऐसे घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप घर बैठे बैठे ही इस हैवी ब्लीडिंग से निजात हासिल कर सकते हैं.

जानिए हैवी ब्लीडिंग के कारण

  • बढ़ती उम्र के साथ-साथ लड़कियों के शरीर में कई प्रकार के हार्मोन अब बदलाव आते हैं.  यही बदलाव उनके पीरियड्स में ब्लीडिंग का कारण बनते हैं.
  • जिन महिलाओं को हर महीने ज्यादा ब्लीडिंग की समस्या बनी रहती है,  ऐसे में उनके गर्भाशय में गांठ या कैंसर होने की संभावना रहती है.
  • बहुत सारी महिलाओं को गर्भ निरोधक दवाओं के कारण हैवी ब्लीडिंग की समस्या बनी रहती है.
  • जिन औरतों का खून पतला होता है उन्हें भी ज्यादा ब्लीडिंग रहती है.

ये है ब्लीडिंग कम करने के सरल उपाय

  • जिन लड़कियों को पीरियड्स के समय में हद से ज्यादा ब्लीडिंग हो रही हो, उनके लिए एलोवेरा का जूस रामबाण सिद्ध होता है.  इससे ना केवल आपको दर्द से निजात मिलेगी बल्कि आपकी बिल्डिंग भी पहले से कम हो जाएगी.

  • ब्लीडिंग को कम रखने के लिए जितनी अधिक हो सके हरी और पत्तेदार सब्जियां खाएं.  क्योंकि हरी और पत्तेदार सब्जियों के सेवन से ब्लीडिंग को कम करने में काफी मदद मिलती है.

  • आपको यह जानकर हैरानी होगी कि पीरियड्स के समय के दौरान मूली और उसके पत्ते काफी मददगार सिद्ध होते हैं.  इसलिए मासिक धर्म के दौरान अब जितना हो सके उतने अधिक मूली के पत्ते और मूली का सेवन करें.  इससे आपकी ब्लीडिंग और दर्द में भारी गिरावट रहेगी.

  • संतरे का जूस सेहत के लिए काफी अच्छा रहता है.  इसके साथ ही अगर ब्लीडिंग के टाइम पर आप दिन में दो बार संतरे का जूस पिए तो आपकी ब्लीडिंग पहले से काफी कम हो जाएगी और दर्द से राहत मिलेगी.
DMCA.com Protection Status