बड़ी ख़बर : चारा घोटाले मामले में लालू यादव को हो गई ‘इतने’ साल की जेल और जुर्माना भी होगा देना

पटना देश के सबसे चर्चित चारा घोटाला मामले में शनिवार को सीबीआइ की विशेष अदालत ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए लालू यादव को सजा सुना दी है। लालू को साढ़े तीन साल की सजा और 5-5 लाख का जुर्माना देने की सजा सुनाई गयी है। हालांकि, लालू को हाईकोर्ट से जमानत मिल सकती है, लेकिन तब तक उन्हें जेल में ही रहना होगा। Lalu yadav sentenced by cbi court. कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए लालू यादव को जेल भेज दिया है। कोर्ट का फैसला सुनने के बाद लालू के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया जिसमें इसे बीजेपी कि साजिश बताया गया।

वहीं इस मामले के अन्‍य अरोपियों महेंद्र, राजाराम, सुनील कुमार सिन्हा, सुशील कुमार को भी साढ़े तीन साल की सजा और 5 लाख जुर्माना देने की सजा मिली है। आपको बता दें कि चारा घोटाले में आरजेडी नेता लालू प्रसाद यादव को शनिवार को सजा मिली है। लालू यादव को सजा मिलने के बाद लालू उनके बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि जो गरीबों के लिए लड़ेगा, उसके साथ ऐसा ही होगा। पीएम मोदी बैठकर मलाई खा रहे हैं। आपको बता दें कि यह मामला 1994 से 1996 के बीच देवघर जिला कोषागार का है।

यह मामला फर्जी तरीके से कोष निकाले से संबंधित है। केस 21 साल पुराना है और शुरु में इस केस में 34 लोग आरोपी थे। लेकिन, इन 21 सालों में 11 लोगों की पहले ही मौत हो चुकी है। यह केस देवघर कोषागार से फर्जी बिल बना कर पैसे निकालने का है। इस मामले में लालू पर आरोप था कि उन्हें इस मामले की पूरी जानकारी थी बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की थी। गौरतलब है कि लालू यादव के बिहार के मुख्‍यमंत्री रहने के साथ ही केंद्रीय रेलवे मंत्री थे उसी दौरान उनपर चारा घोटाले का आरोप भी लगा था, जिसका केस भी अभी चल रहा है।

इसके बाद लालू पर नया आरोप रेलमंत्री रहते हुए 1000 करोड़ की बेनामी संपत्ति बनाने का भी है। लालू ने चारा घोटाले में अपना नाम आने के बाद पत्‍नी राबड़ी देवी को बिहार का मुख्‍यमंत्री बना दिया था। राबड़ी का भी नाम सरकारी संपत्ति अपने नाम करने का आरोप है। वहीं बेटी मीसा भारती और उनके पति शैलेश के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग और बेनामी संपत्ति का केस दर्ज है। यानि लालू यादव का पूरा परिवार घोटाले में फंसा हुआ है, जिसके फैसले भी जल्द आ सकते हैं। लालू यादव को आज देवघर ट्रेजरी मामले में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए साढ़े तीन साल की सजा और 5 लाख के जुर्माने की सजा सुनाई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.