शादी के 15 मिनट बाद ही दुल्हे ने दुल्हन से तोडा अपना नाता, वजह जानकर आपके भी होश उड़ जाएंगे!

उज्जैन: जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि भारत देश में शादी को सबसे अधिक अहमियत दी जाती है.  शादी एक ऐसा पवित्र बंधन है जो दो अजनबी लोगों को सारी जिंदगी के लिए एक साथ बाँध कर रखता है.  हमारे इस भारत देश में शादी को लेकर कई प्रकार के रसम और रिवाज़ निभाए जाते हैं. वहीँ दूसरी और शादी को लेकर लड़के और लड़की के मन में हजारों सपने जन्म लेते हैं.  ऐसे में हर कोई चाहता है कि उसका शादी का दिन सबसे खास और यादगार बन जाए.  आपने अपने जीवन में कई शादियां देखी होंगी और कई शादियों के किस्से भी सुने होंगे.  लेकिन आज हम आपको एक ऐसी अजीबोगरीब शादी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में ना कभी आपने सुना होगा और ना ही कभी आपने देखा होगा.  दरअसल उज्जैन में हाल ही में एक अजीबोगरीब किस्सा सामने आया है.  यहां शादी के 15 मिनट बाद ही दूल्हे ने दुल्हन से अपने सारे रिश्ते तोड़ दिए.  बहरहाल चलिए जानते हैं आखिर ये पूरा मामला क्या था…

 
दरअसल, यह पूरा मामला उज्जैन के नानाखेड़ा पुलिस थाना क्षेत्र का है.  यहां की रहने वाली किरण पति संतोष 27 वर्षीय, निवासी तराना हालमुकाम मक्सी रोड गोपालपुरा को गिरफ्तार कर लिया है.  जानकारी के अनुसार बीती 30 दिसंबर को काजल राजस्थान के झुंझुनू में रहने वाले सज्जन सिंह को इंदौर की रहने वाली अनीता शर्मा और उज्जैन के मुकेश शर्मा के ज़रिए मिली थी.  काजल ने बताया कि उनकी शादी ढाई लाख रूपय में पक्की हो गई थी जिसके बाद देवास रोड हमुखेड़ी स्थित बिजासन माता मंदिर में उनकी शादी को दो ही मिनट में संपन्न कर दिया गया था.
काजल ने बताया कि शादी के कुछ मिनट बाद अनीता और मुकेश, शादी की ढाई लाख रुपए की राशि लेकर वहां से फरार हो गए.  जब दूल्हा दुल्हन को लेकर राजस्थान के लिए रवाना हुआ तो 15 मिनट बाद टोल नाके पर पहुंचते ही दुल्हन ने शोर मचाना शुरू कर दिया.  वहां दुल्हन ने लोगों को चिल्ला चिल्लाकर बोलना शुरू कर दिया कि वह लोग उसको जबरदस्ती किडनैप करके राजस्थान ले जा रहे हैं.  जब राहगीरों ने उसकी दर्द भरी आवाज सुनी तो उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचित किया. जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उनकी कार को रोक लिया और युवती और युवक को थाने ले आए.  थाने पहुंचकर युवती ने  लुटेरी होने की सारी पोल खोल दी.
 
थाने पहुंचकर दूल्हे ने बताया कि उसकी शादी करवाने के पीछे अनीता का हाथ था.  दूल्हे के अनुसार इंदौर में रहने वाली अनीता ने दूल्हे की शादी के लिए उससे ढाई लाख रुपये की डिमांड रखी थी. अनीता की मांग पूरी होने के बाद दूल्हा अपने भाई और भाभी के साथ  उज्जैन पहुंचा. वहां अनीता ने उसकी मुलाकात मुकेश से करवाई और बिना वक्त गंवाते उन्हें पास के  मंदिर चलने को कहा.  मंदिर पहुंचकर अनीता ने दूल्हे से 50 लाख खुद ले लिए और बाकी के 2 लाख रुपए मुकेश को दिलवा दिए और दोनों की शादी के लिए मालाएं डलवा दी.  पैसे मिलने के बाद अनीता और मुकेश ने उन्हें तुरंत वहां से चले जाने को कहा.  दरअसल, यह शादी काजल, अनीता और मुकेश द्वारा एक सोची-समझी साजिश थी.
 
पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में काजल ने बताया कि उसका असली नाम किरण निवासी तराना है.  किरण ने बताया कि उसको 10 मिनट के लिए शादी का नाटक करने के लिए बोला गया था जिसके बदले उसको ₹10000 दिए गए थे.  किरण ने बताया कि वह पहले से शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं.  किरण के अनुसार वह पैसों के लालच में आ गई थी जिसके कारण उसने नकली शादी के लिए हां कर दी थी.  फिलहाल पुलिस ने किरण को हिरासत में ले लिया है और बाकी अन्य गिरोह के सदस्यों की तलाश शुरू कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.