राजनीति

10 बच्चों का पेट पालने के लिये किया करता था ऐसा काम, जानकर पुलिस वाले भी हो गए हैरान

लखनऊ – उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से एक सनसनीखेज़ मामला सामने आया है। रिपोर्ट के मुताबिक, स्थानिय पुलिस ने यहाँ एक अवैध शस्त्र फैक्ट्री पर छापा मारा, लेकिन उसके बाद जो हुआ वो पुलिसवालों के लिए बेहद चौंकाने वाला था। दरअसल, पुलिस ने फैक्टरी में छापा मारकर भारी मात्रा में बंदुकें बरामद की। स्थानिय पुलिस ने इन तमंचों के साथ दो लोगों को गिरफ्तार किया, लेकिन उन्होंने ऐसा बातें बताई जिसकी पुलिस कल्पना भी नहीं कर रही थी। आइये आपको बताते हैं कि पूरा मामला क्या है।

स्थानिय पुलिस ने एक अवैध शस्त्र फैक्ट्री पर छापा मारकर जिन दो लोगों के गिरफ्तार किया उनसे पूछताछ के बाद एक शख्स ने जो कहानी बताई वो काफी दिलचस्प है। गिरफ्तार किये गए शख्स ने बताया कि उसके 10 बच्चे हैं और वह अवैध तरीके से कट्टे बनाकर  उनको पालने के लिये वो ऐसा करता है। रिपोर्ट के मुताबिक अपने बच्चों को पालने के लिए वह कभी तमंचे बनाकर बेचता है तो कभी मजदुरी भी करता है। दरअसल, यूपी के शाहजहांपुर में किसी मुखबिर ने पुलिस को इस अवैध फैक्टरी की जानकारी दी थी। जिसके  बाद सदर बाजार इंस्पेक्टर डी सी शर्मा ने अपनी टीम के साथ इस अवैध तमंचा फैक्ट्री पर छापा मारा।

रिपोर्ट के मुताबिक छापे में कमलेश जाटव और नरेश जाटव को रंगे हाथ गिरफ्तार किया और उन्हें जेल भेज दिया। लेकिन, पुलिस को शायद इस बात का अंदाजा नहीं था कि वो जिस शख्स को गिरफ्तार कर रहे हैं उसके पीछे ऐसी कहानी सामने आयेगी। गिरफ्तार किये गए शख्स ने अपने बच्चों की दुहाई देते हुए बताया कि वह मजबुरी में ऐसा काम करता है। पुलिस के मुताबिक, इस शख्स के 10 बच्चे हैं और वह कभी अवैध तरीके से हथियार बनाता है तो कभी मजदूरी करता है। हालांकि, पुलिस ने अपनी ड्यूटी निभाते हुए उसे जेल भेज दिया, क्योंकि उसका अपराध संगीन था।

लेकिन, बाद में पुलिस ने इस बात का भी पता लगा लिया कि गिरफ्तार किये गए दूसरे शख्स पर हत्या का केस दर्ज है। पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद इस बात का भी पता लगा लिया कि इन दोनों ने अवैध असलहों का जखीरा थाना सदर बाजार के शाहबाजनगर इलाके के गर्रा नदी के पास छिपा रखा है। गिरफ्तार किय गया दुसरे शख्स नरेश के दस बच्चे हैं, जो अपने घर-परिवार को पालने के लिए तमंचे बेचने का काम करने लगा। नरेश बार बार खुद को बेकसूर बताता रहा। हालांकि, पुलिस पर उसकी बातों का कुछ खास असर नहीं हुआ।

Back to top button