योगी राज में एक्शन शुरु: सीएम बनते ही दिया आदेश और बंद हो गए बूचड़खाने!

योगी राज में एक्शन शुरु: सीएम बनते ही दिया आदेश और बंद हो गए बूचड़खाने!

इलाहाबाद –  योगी को यूपी का नया सीएम बनते बमुश्किल अभी 24 घंटे भी नहीं हुए हैं और योगी सरकार का एक्शन शुरु हो गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने चुनाव पहले स्लॉटर हाउस (बूचड़खानों) को बंद करने के अपने वादे को पूरा कर दिया है। इसके तहत इलाहाबाद के नगर निगम प्रशासन ने रविवार रात को पुलिस की मौजूदगी में अटाला और नैनी के चकदोंदी मोहल्ले में चल रहे बूचड़खानों को सील कर दिया है। गौरतलब है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और खुद योगी आदित्यनाथ ने चुनाव प्रचार के दौरान ऐलान किया था कि वह सरकार बनने के बाद यूपी में बूचड़खाने को बंद करवाएगी। Slaughter house seal in allahabad.

सीएम बनते ही इलाहाबाद में दो बूचड़खाने सील –

योगी सरकार पूरे एक्शन में नज़र आ रही है। योगी आदित्यनाथ ने सीएम बनने के 24 घंटे के भीतर इलाहाबाद के अटाला और नैनी के चकदोंदी मोहल्ले में चल रहे बूचड़खानों को सील करा दिया है। आपको बता दें कि अटाला और नैनी के इन बूचड़खानों को बंद करने के आदेश NGT ने 2016 में ही दे दिया था, लेकिन अखिलेश सरकार के लिए ऐसा करना जरुरी नहीं लगा।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में 250 से ज्यादा बूचड़खानें हैं जो अवैध रुप से चल रहे हैं। कागजी पर तो ये सभी बूचड़खानें बंद है लेकिन यहां रोजाना 300 के करीब जानवरों को काटने का काम जारी है। चुनाव के दौरान अमित शाह और योगी आदित्यनाथ ने अवैध रूप से जितने बूचड़खानों को बंद करने का वादा किया जिसे योगी आदित्यनाथ ने सीएम बनने के 24 घंटे के भीतर ही पूरा किया।

24 घंटे में की योगी सरकार ने हिला डाला यूपी –

योगी आदित्यनाथ ने सीएम बनने के 24 घंटे के भीतर ही 10 बड़े फैसले लेकर पूरे यूपी प्रशासन को संकेत दे दिया है कि वो कितने निर्भीक और निष्पक्ष होकर अपना कार्य करने वाले हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 15 दिनों के भीतर अपने सभी मंत्रियों को अपनी संपत्ति का ब्यौरा देने को कहा है। इसके अलावा, इलाहाबाद में हुई बीएसपी नेता की हत्या के मामले में तत्काल एक्शन लेने को भी कहा है।

इलाहाबाद में दो अवैध बूचड़खानों को बंद कर दिया गया है। योगी ने अधिकारियों को जिम्मेदारी से काम करने के निर्देश देते हुए बे वजह की बयानबाजी से बचने की हिदायत दी है। आपको बता दें कि यूपी में योगी सरकार बनने के बाद से पूरे प्रदेश की अलग-अलग जगहों से बूचड़खानों के बंद होने की ख़बरें भी आ रही हैं।